Society and Culture

खुशखबरी ! सबको मिल रहें हैं 86400 रुपये

अच्छे से समझने के लिए नीचे दिए वीडियो देखिए | इस वीडियो को पूरा देखने के बाद आप समझ पाएंगे 86400 कमाने का राज़

मान लीजिए हम लोग किसी बहुत ही दरियादिल मालिक के यहां नौकरी करते और वह मालिक हम लोगों को हर रोज 86400 रुपए देता और साथ में एक शर्त रखता

Advertisement

वह कहता इस पूरे ₹86400 का जिस तरह इस्तेमाल करना है करो , जहां खर्चा करना है करो बस दिन के खत्म होते  हीं उसमें से जितने भी रुपए भी बचेंगे वह बचे हुए सारे रुपए मालिक वापस ले लेगा।

खर्च करने में कोई रुकावट नहीं होगी, जिसको जहां जितना भी मन करें खर्च करें, बस दिन खत्म होने पर जो भी रुपए बचेगा वह मालिक वापस ले लेगा।

अगर हम लोगों को सच में ऐसा कोई मौका मिले तो हम चाहेंगे कि ज्यादा से ज्यादा खत्म किया जाए क्योंकि हमें पता है  की जो बचेगा वह वापस ले लिया जाएगा।

अब मान लीजिए वह मालिक एक और शर्त रखता है कि दिनभर खर्च करने के बाद जो भी रुपया बचेगा वह सारा वापस ले लेगा लेकिन साथ ही साथ फिर से अगले दिन के खर्च करने के लिए ₹86400 देगा।

यह तो और भी अच्छी बात हो जाएगी, क्योंकि खर्च की कोई रुकावट नहीं रहेगी, हम लोग पूरी कोशिश करेंगे कि पूरा पैसा खत्म हो जाए क्योंकि बचा हुआ पैसा वैसे भी वापस ले लिया जाएगा और साथ ही फिर से अगले दिन के खर्च के लिए नया ₹86400 मिलेगा।

ऐसा भी हो सकता है कि मालिक से ₹86400 लेकर आएं तो शौक में कुछ ऐसी चीजें खरीद लें जिससे हमारा कोई फायदा ना हो या ऐसा भी हो सकता है कि हम लोगों का कुछ पैसा बर्बाद हो जाए या ऐसा भी हो सकता है कि कुछ पैसा हम लोगों से कोई चोर चुरा ले लेकिन हम में से कोई भी उदास नहीं होगा क्योंकि हमें मालूम रहेगा कि चलो अगले दिन के लिए तो फिर से पूरे ₹86400 मिलेंगे। तो आज कुछ नहीं भी खरीद पाए तो क्या, कल खरीद लेंगे, या अगर आज जिस चीज से नुकसान हो गया उसको दोबारा कभी नहीं खरीदेंगे, लेकिन हम में से कोई भी ऐसा नहीं होगा जो दिल तोड़ कर बैठ जाए कि बहुत नुकसान हो गया। क्योंकि मालूम होगा अरे आज नहीं तो क्या कल तो फिर से पूरा पैसा मिलेगा

 

अब जरा सोचिए हर रोज अल्लाह या ईश्वर या भगवान कहिए, हम लोगों को 24 घंटे में 86400 सेकंड देता है इस वादे के साथ के इस टाइम को जिस तरह भी खर्च करना है बिना रुकावट के करो और जो भी बस जाता है तो वो टाइम वापस ले लेता है लेकिन अगले दिन के लिए फिर से नया 86400 सेकंड खर्च करने के लिए देता है। तो फिर ऐसा क्यों होता है कि हम लोग उस वक्त को खर्च करने में कुछ गलती कर देते हैं तो उदास हो जाते हैं या फिर ऐसा सोचने लगते हैं अब वक्त नहीं बदलेगा। हम क्यों भूल जाते हैं यह तो आज की बात थी कल तो फिर से दोबारा मौका मिलेगा फिर से दोबारा 86400 सेकेंड्स मिलेंगे

To find more similar motivational contents, click here 

Tags

Imran Noor

An IITian, a Petroleum Engineer by profession and a strong believer in reforms through Education. I find myself very good at motivating youngsters to become achievers. I have been active in bringing quality standards of Education in rural areas of Bihar.

3 Comments

  1. Hamara name Sandeep he mere father ke dead Hone ke baad Hamara family tut gaya he me indea se hu me Chota sa business karna Chahta hu please aap hamari help kare please help me me musroom froming ka business karna Chahta hu please aap hamari help kare please help me me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close