Uncategorized

वायरल फीवर को लेकर रहें एक्टिव और अलर्ट, सीएम नीतीश ने स्वास्थ्य विभाग को दिए निर्देश, कहा- इलाज में न हो कोई कमी

Be on alert regarding Viral Fever, Bihar CM Nitish Kumar directs health department for all preparedness

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया है कि वायरल बुखार से पीड़ित बच्चों के इलाज में कोताही ना हो, यह सुनिश्चित करें। इसको लेकर अलर्ट और एक्टिव रहें। वायरल बुखार के लक्षणों पर भी नजर बनाये रखें। अस्पतालों में दवा की पर्याप्त उपलब्धता रखें।

उन्होंने कहा कि वायरल बुखार से पीड़ित बच्चों के इलाज में कोई कमी नहीं रहेगी। मुख्यमंत्री शनिवार को एक अणे मार्ग में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा की और कोरोना जांच, टीकाकरण एवं बच्चों में फैल रहे वायरल बुखार से बचाव को लेकर अधिकारियों को कई आवश्यक निर्देश दिये।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा कि वायरल बुखार को लेकर विभाग जो कदम उठा रहा है, उसकी जानकारी मीडिया के माध्यम से लोगों को दें। शहरी क्षेत्रों में जिनका टीकाकरण बचा हुआ है, उनका जल्द-से-जल्द टीकाकरण करायें। ग्रामीण क्षेत्रों में भी विशेष अभियान चलाकर टीकाकरण का कार्य तेजी से पूरा करें।

खासकर मुंबई, केरल और तमिलनाडु से आने वाले लोगों की कोरोना जांच अवश्य करायें। रेलवे स्टेशन एवं बस स्टैंड पर बाहर से आने वालों पर विशेष नजर रखें। इन जगहों पर कोरोना जांच की व्यवस्था रखें। टीकाकरण कोरोना से बचाव का कारगर उपाय है। इसके साथ ही कोरोना की जांच भी उतनी ही महत्वपूर्ण है।

कोरोना जांच की संख्या और बढ़ायें। इसे प्रतिदिन दो लाख तक ले जायें। लोग मास्क का प्रयोग जरूर करें। यह कोरोना संक्रमण से बचाव के साथ-साथ अन्य वायरल बीमारियों से बचाव में भी उपयोगी है। माइक के माध्यम से प्रचार-प्रसार कर लोगों को सचेत एवं जागरुक करते रहें।

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से बच्चों में वायरल बुखार से बचाव को लेकर उठाये जा रहे कदमों की जानकारी दी। साथ ही कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति, कोरोना जांच एवं टीकाकरण के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि सभी अस्पतालों में दवा की उपलब्धता पर्याप्त है। वायरल बुखार को लेकर विभाग पूरी तरह एक्टिव है और उसकी सघन निगरानी की जा रही है। वायरल बुखार को लेकर लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है।

कोरोना टीकाकरण का काम शहरी क्षेत्रों में लगभग शत-प्रतिशत हो गया है। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार समेत अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button