Health

किडनी स्टोन या किडनी में पत्थर कैसे होता है, खुद को इस से कैसे बचाएं

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि पूरी दुनिया में हर 10 में से एक आदमी को किडनी का पत्थर अपने जीवन में एक बार हो जाता है। लेकिन अगर हम लोग सही तरह से एहतियात बरते तो इससे बचा जा सकता है।

इससे बचने के लिए जानकार बताते हैं कि हमें खूब सारा पानी पीना चाहिए और साथ ही वैसे भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए जो किडनी में पत्थर होने को बढ़ावा देते हैं। यह तो सब जानते हैं कि जब हम खूब पानी का एवं करेंगे तो हमारे शरीर से विभिन्न प्रकार के हानिकारक पदार्थ मूत्र के रास्ते से शरीर के बाहर आ जाएंगे। अब अगर हमारे शरीर में पानी ज्यादा मात्रा में होगा तो यह सारे के सारे हानिकारक पदार्थ बाहर आ जाएंगे और शरीर के अंदर एकत्रित होने से बचेंगे। इससे पत्थर बनने का खतरा कम रहेगा। जानकारों की सलाह है कि एक व्यक्ति को दिन भर में कम से कम आठ से 10 गिलास पानी पीना चाहिए।

Advertisement

दूसरा हमें नमक का सेवन है कम करना चाहिए। नमक हमारे शरीर में पानी की रुकने की क्षमता को कम करता है इस वजह से हमारा शरीर पानी की कमी से ग्रस्त हो सकता है जिसे अंग्रेजी भाषा में डिहाईड्रेशन कहा जाता है। शरीर में नमक की मात्रा ज्यादा होने की वजह से हमारे यूरिन में कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाती है। विशेषज्ञ बताते हैं कि हमें औसतन 1 दिन में 2300 मिलीग्राम तक नमक का सेवन करना चाहिए। आसान भाषा में कहें तो इसका मतलब हुआ है कि हमें चाय की चम्मच के बराबर 1 दिन में नमक का सेवन करना चाहिए। ज्यादा नमक वाले खाने जैसे कि चिप्स, डब्बे में पैक खाने आदि का सेवन कम करना चाहिए।

तीसरा वैसे भोजन का सेवन बिल्कुल कम करें जिसमें कैल्शियम oxalate हो। वैसे तो किडनी स्टोन अलग-अलग पदार्थों से मिलकर बनता जैसे कि यूरिक एसिड, struvite, cysteine, लेकिन आमतौर पर किडनी के स्टोन में कैल्शियम ऑक्सलेट जरूर होता है। एक रिसर्च में लगभग 44000 किडनी स्टोन को शोध में रखा गया और उसमें से लगभग 67% किडनी के पत्थर में कैल्शियम ऑक्सलेट पाया गया। जिन लोगों को किडनी के स्टोन होने का खतरा ज्यादा होता है डॉक्टर उन्हें ऐसे भोजन का सेवन करने से रोकते हैं जिसमें कैल्शियम ऑक्सलेट हो। या फिर ऐसे भोजन के साथ कैल्शियम भी सही मात्रा में लेने से स्टोन का खतरा कम हो जाएगा। आलू ,सोयाबीन ,ग्रेप जूस जैसे भोजन में कैल्शियम ऑक्सलेट की मात्रा होती है।

चौथा अपने मांसाहारी भोजन का सेवन कम करें। रेड मीट ,पोल्ट्री, अंडा ,या मछली, ,। इन सब भोजन से यूरिक एसिड बढ़ता है जिससे कि किडनी के पत्थर होने का खतरा बढ़ जाता है। ज्यादा प्रोटीन वाले खाने की वजह से हमारे शरीर में citrate की मात्रा कम हो जाते हैं। यह citrate पदार्थ हमारे मूत्र में पाया जाता है और इसकी वजह पत्थर बनने का खतरा कम होता है

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
Close